Pradhanmantri Garib Kalyan Anna Yojana 2022 5 किलो मुफ्त राशन योजना

Share it with your Friends

pradhanmantri garib kalyan yojana 2022 2021 प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना pm gareeb kalyan yojana pmgky प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना lock down scheme for poors pradhanmantri garib kalyan anna yojana ration subsidy yojana लाभार्थियों को मिलेगा नवंबर तक मुफ़्त राशन

Pradhanmantri Garib Kalyan Anna Yojana 2022

केंद्र सरकार ने पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना का दायरा मार्च 2022 तक बढ़ा दिया है। गरीब परिवारों को इस पीएम-जीकेएवाई पोषण सहायता योजना के तहत निर्दिष्ट तिथि तक मुफ्त खाद्यान्न मिलेगा। इससे पहले, केंद्र सरकार ने प्रधान मंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के लिए दिशानिर्देशों को संशोधित किया था जो 4 नवंबर 2021 तक चलने वाली थी और अब यह मार्च 2022 तक चलेगी। नए रूप में, इस PMGKAY योजना के तहत खाद्य पदार्थों का लाभ उठाने के लिए राशन कार्ड या आईडी की कोई आवश्यकता नहीं है।

pradhanmantri garib kalyan yojana 2021

pradhanmantri garib kalyan yojana 2021

प्रधान मंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएम-जीकेएवाई) प्रवासियों और गरीबों को मुफ्त खाद्यान्न की आपूर्ति करने के लिए आत्मानबीर भारत के हिस्से के रूप में एक योजना है। 81.35 करोड़ से अधिक लोगों को प्रति व्यक्ति/माह 5 किलो मुफ्त गेहूं/चावल के साथ-साथ 1 किलो मुफ्त साबुत चना प्रति माह मिलेगा। गेहूं 6 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों अर्थात् पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, चंडीगढ़, दिल्ली और गुजरात को आवंटित किया जाता है और चावल शेष राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को प्रदान किया जाता है। यह राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 (एनएफएसए) के तहत नियमित मासिक पात्रता के अतिरिक्त है। अब केंद्र सरकार। ने PMGKAY योजना को मार्च 2022 तक बढ़ा दिया है जो पहले 4 नवंबर 2021 को समाप्त होने वाली थी।

मजदूरों के लिए भरण पोषण भत्ता आवेदन के लिए यहाँ क्लिक करें

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना चरणवार प्रगति

पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना चरण 5 के तहत खाद्यान्न पर 53344.52 करोड़ रुपये की अनुमानित खाद्य सब्सिडी होगी। चरण V में खाद्यान्न का कुल व्यय लगभग 163 लाख मीट्रिक टन होने की उम्मीद है। चरणवार पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना की प्रगति की जाँच यहाँ की जा सकती है

  • चरण 1: अप्रैल से जून 2020 (लगभग 74.64 करोड़ लाभार्थियों को 37.32 लाख मीट्रिक टन वितरित)
  • चरण 2: जुलाई से नवंबर 2020 (37.20 लाख मीट्रिक टन लगभग 74.4 करोड़ लाभार्थियों को वितरित)
  • चरण 3: मई से जून 2021 (लगभग 73.75 करोड़ लाभार्थियों को 36.87 लाख मीट्रिक टन वितरित)
  • चरण 4: जुलाई से नवंबर 2021 में दिवाली (लगभग 70.8 करोड़ लाभार्थियों को 35.40 लाख मीट्रिक टन वितरित)
  • चरण 5: नवंबर 2021 से मार्च 2022 में दीवाली के बाद (वर्तमान में चल रहे लगभग 35.8 करोड़ लाभार्थियों को 17.9 एलएमटी वितरित)

सरकार घरेलू बाजार में उपलब्धता में सुधार और कीमतों की जांच के लिए ओएमएसएस नीति के तहत थोक उपभोक्ताओं को चावल और गेहूं दे रही है। अनुराग ठाकुर ने कहा कि 24 नवंबर 2021 को कैबिनेट ने तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने की औपचारिकताएं भी पूरी कर ली हैं। ठाकुर ने कहा, “संसद के आगामी सत्र के दौरान इन तीनों कानूनों को वापस लेना हमारी प्राथमिकता होगी।”

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्ना योजना का उद्देश्य

ऐसे बहुत से लोग है जो आर्थिक रूप से कमज़ोर है और मेहनत मज़दूरी से अपना जीवन यापन कर रहे है मगर कोरोना वायरस के कहर की वजह से पूरी देश में 21 दिन का लॉक डाउन कर दिया है जिससे गरीब लोग अपने काम पर नहीं जा पा रहे है और उन्हें खाने पीने में दिक्कत हो रही है इस समस्या को देखते हुए प्रधानमंत्री जी ने इस पीएम राशन सब्सिडी योजना का ऐलान किया है। इस योजना के ज़रिये देश के लोग सब्सिडी पर हर महीने 7 किलो राशन प्राप्त कर सकते है।

इस योजना के ज़रिये देश के गरीब लोग लॉक डाउन के दिनों में घर बैठे अच्छे से जीवन यापन कर सकते है। जैसे की बहुत से ऐसे लोग है जो आर्थिक रूप से कमज़ोर है और मेहनत मज़दूरी से अपना जीवन यापन कर रहे है मगर कोरोना वायरस के कहर की वजह से पूरी देश में 21 दिन का लॉक डाउन कर दिया है जिससे गरीब लोग अपने काम पर नहीं जा प् रहे है और उन्हें कहने पिने में दिक्कत हो रही है इस समस्या को देखे हुए प्रधानमंत्री जी ने इस पीएम राशन सब्सिडी योजना का ऐलान किया है इस योजना के ज़रिये देश के लोग सब्सिडी पर हर महीने 7 किलो राशन प्राप्त कर सकते है । इस योजना के ज़रिये देश के गरीब लोग लॉक डाउन केदिनों में घर बैठे अच्छे से जीवन यापन कर सकते है।

अपने भाषण में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा के हम किसी को भी भूखा नहीं मरने देंगे और सरकार गरीब परिवारों का इस योजना के तहत विशेष ध्यान रखेगी | उन्होंने ये कहा के सरकार खाने पीने की चीजें तो मुहैया करेगी ही, साथ ही साथ यह भी सुनिश्चित करेगी के गरीबों की आर्थिक मदद भी की जा सके |

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की विशेषताएं

  • इस योजना का लाभ देश के सभी राशन कार्ड धारक लाभ उठा सकते है।
  • इस योजना के तहत देश के 80 करोड़ लाभार्थियों को राशन सब्सिडी प्रदान किया जायेगा।
  • देश के लोगो को तीन महीने तक गेहू 2 रूपये प्रतिकिलो और चावल 3 रूपये प्रतिकिलो की दर से राशन राशन की दुकानों पर दिया जायेगा।
  • प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना के अंतर्गत देश 80 करोड़ लाभार्थियों को 3 महीने तक 7 किलो राशन सरकार द्वारा प्रदान किया जायेगा।
  • आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के लिए सरकार पहले से ही 5 किलो गेहूं/चावल मुहैया करवाती है। इस स्कीम के तहत इनके अतिरिक्त 5 किलो गेहूं/चावल हर महीने (अगले तीन महीनों के लिए ) प्रत्येक लाभार्थी गरीब व्यक्ति को मुफ्त में मिलेगा और साथ ही साथ 1 किलो दाल हर गरीब परिवार को अतिरिक्त मिलेगी।
  • गरीबों के खातों में डायरेक्ट ट्रांसफर के जरिये धन राशि पहुंचाई जाएगी।

कुछ अन्य महत्वपूर्ण घोषणाएं

  • देश के जो लोग चिकत्सा क्षेत्र से जुडी हुए है और कोरोना वायरस के खिलाफ अपनी जान की बाजी लगा रहे है उन्हें केंद्र सरकार द्वारा 50 लाख रूपये तक का जीवन बीमा प्रदान किया जायेगा।
  • देश की वित् मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने देश के किसानों, मनरेगा मजदूर, गरीब विधवा, गरीब दिव्यांग और गरीब पेंशनधारक, जनधन योजना, उज्जवला के लाभार्थी, स्वयं सहायता समूह की महिलाएं, संगठित क्षेत्र के कर्मचारी और निर्माण में काम कर रहे लोगों के लिए एलान किया।
  • बुजुर्गों, दिव्यांगों और विधवाओं को दो किस्तों में तीन महीने तक 1000 रुपये अतिरिक्त दिए जायेगे। इससे तीन करोड़ लोगों को लाभ प्रदान किया जायेगा।

  • उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को तीन महीने तक मुफ्त सिलेंडर दिए जाएंगे। जिसमे देश के लगभग 8 करोड़ लाभार्थियों को फायदा होगा।
  • प्रधानमंत्री जनधन योजना के अंतर्गत देश की महिला जनधन खाताधारकों को 3 महीने तक 500 रुपये प्रति माह की राशि प्रदान की जाएगी। इससे लगभग 20 करोड़ महिलाओं को लाभ दिया जायेगा।

पीएम गरीब कल्याण योजना में पंजीकरण

देश के जो गरीब लोग इस योजना के अंतर्गत सब्सिडी पर राशन प्राप्त करना चाहते है तो उन्हें नीचे दिए गए दिशा निर्देश को पढ़ना होगा। प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए कोई पंजीकरण की प्रक्रिया नहीं है। देश के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत 2 रूपये प्रतिकिलो की दर से गेहू और 3 रूपये प्रतिकिलो की दर से चावल प्राप्त करना चाहते है तो वह राशन की दुकान पर जाकर अपने राशन कार्ड के ज़रिये प्राप्त कर सकते है। सब्सिडी पर राशन लेकर देश के गरीब लोग अपना जीवन यापन कर सकते है।

Toll Free Helpline Number : 1075 / 11-23978046

सरकार द्वारा जारी कोरोना के लिए सभी केंद्रीय /राज्यवार योजनाओं की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के बारे में नवीनतम अपडेट के लिए हमारी वेबसाइट (www.sarkariyojnaye.com) के साथ संपर्क में रहें। तत्काल अपडेट प्राप्त करने के लिए इस पृष्ठ को बुकमार्क करें (CTRL + D दबाएं)। किसी भी प्रश्न/ सहायता के लिए नीचे दिए गए बॉक्स में एक टिप्पणी छोड़ दें। आप हमारे फेसबुक पेज (www.facebook.com/sarkariyojnaye247) पर भी एक संदेश छोड़ सकते हैं या [email protected] पर एक मेल छोड़ सकते हैं।

अगर आपको प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना से सम्बंधित कोई भी प्रश्न पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है , हमारी टीम आपकी मदद करने की पूरी कोशिश करेगी। अगर आपको हमारी ये जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों को भी शेयर कर सकते है ताकि वो भी इस योजना का लाभ उठा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *