Haryana Chatra Parivahan Suraksha Yojana 2022 दुर्गाशक्ति वाहिनी

Share it with your Friends

haryana chatra parivahan suraksha yojana 2022 for safety of girls. Under this scheme, all the girl students will get free travel facility from their home to their educational institutions. The state govt. will also constitute a special task force namely “Durgashakti Vahini” to minimize the crimes against women हरियाणा छात्र परिवहन सुरक्षा योजना 2021

Haryana Chatra Parivahan Suraksha Yojana 2022

हरियाणा सरकार ने लड़कियों की सुरक्षा के लिए छात्र परिवहन सुरक्षा योजना शुरू की है। इस योजना के तहत, सभी छात्राओं को उनके घर से उनके शिक्षण संस्थानों तक मुफ्त यात्रा की सुविधा मिलेगी। राज्य सरकार महिलाओं के खिलाफ अपराधों को कम करने के लिए “दुर्गाशक्ति वाहिनी” नामक एक विशेष कार्य बल का भी गठन करेगी। इस योजना का प्राथमिक उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि लड़कियां सार्वजनिक स्थानों, कार्यस्थलों और यात्रा के दौरान सुरक्षित महसूस करें।

haryana chatra parivahan suraksha yojana 2022

haryana chatra parivahan suraksha yojana 2022

हरियाणा राज्य सरकार महिलाओं के खिलाफ अनैतिक व्यवहार के लिए जीरो टॉलरेंस की नीति का पालन करेगी। छात्र परिवहन सुरक्षा योजना की टैगलाइन “म्हरे हरयाने की शान, लड़की-लड़की एक समान” है। हरियाणा में हाल ही में बलात्कार के मामलों के बाद राज्य सरकार महिलाओं के अस्तित्व और सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक अन्य कदम भी उठाएगी।

Also Read : Haryana Mukhyamantri Mahila Shramik Samman Yojana

हरियाणा छात्र परिवहन सुरक्षा योजना

महिला मतदाताओं को लुभाने के लिए भारत में महिला सुरक्षा और सुरक्षा सबसे अनुकूल विषय है। हर चुनाव लड़ने वाली पार्टी महिला सुरक्षा की बात करती है लेकिन सर्वेक्षण रिपोर्ट बताती है कि भारत उन शीर्ष देशों में शुमार है, जिनका महिलाओं के खिलाफ अपराध का इतिहास रहा है। घरेलू हिंसा (ज्यादातर रिपोर्ट नहीं की गई) से लेकर बलात्कार के मामलों तक महिलाओं को आसान लक्ष्य के रूप में देखा जाता है। एक लंबी सूची है जो दर्शाती है कि भारत में महिलाएं कितनी असुरक्षित हैं। हरियाणा में महिलाओं की स्थिति बदतर है लेकिन राज्य सरकार सख्त कार्रवाई कर रही है और महिला सुरक्षा के लिए नए कानूनों और योजनाओं को लागू कर रही है।

हरियाणा छात्र परिवहन सुरक्षा योजना के लाभ

छात्र परिवहन सुरक्षा योजना अब छात्राओं को सड़क पर सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू की गई है। छत्र परिवहन सुरक्षा योजना लड़कियों को मुफ्त यात्रा सुविधा प्रदान करेगी, भले ही किसी शैक्षणिक संस्थान में छात्रों की संख्या कितनी भी हो। सीएम खट्टर के नेतृत्व वाली राज्य सरकार महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। योजना को सफलतापूर्वक लागू करने के लिए, सरकार नोडल अधिकारी नियुक्त करेगी, जिन्हें लड़कियां अपनी आवश्यकताओं को प्रस्तुत करने में सक्षम होंगी।

हरियाणा छात्र परिवहन सुरक्षा योजना का प्रमुख लाभ यह सुनिश्चित करना है कि सभी महिला स्कूल और कॉलेज के छात्रों को सुरक्षित और मुफ्त आवागमन सुविधा प्रदान की जाएगी। उन्हें अपने घर और शैक्षणिक संस्थान के बीच आने-जाने के लिए यह मुफ्त परिवहन सुविधा प्राप्त होगी।

Also Read : Haryana Maternity Benefit Scheme

हरियाणा छात्र परिवहन सुरक्षा योजना की मुख्य विशेषताएं

  • महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करना और बढ़ाना – इस परियोजना के क्रियान्वयन के साथ, राज्य महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों को सड़कों पर कम करना चाहता है। ऐसे कई मामले सामने आए हैं जब महिलाओं को सड़क पर अकेले होने पर गुंडागर्दी करने वालों ने ताना मारा है।
  • निःशुल्क यात्रा की सुविधा – अब सभी छात्राओं को बिना कोई पैसा खर्च किए अपने घरों और स्कूलों/कॉलेजों के बीच यात्रा करने की सुविधा दी जाएगी। राज्य प्राधिकरण द्वारा सुरक्षित परिवहन सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • शैक्षणिक संस्थानों की बढ़ती संख्या– सीएम ने कहा कि प्रदेश में कई नए शिक्षण संस्थान खोले जाएंगे। जैसे-जैसे प्रत्येक क्षेत्र में संस्थानों की संख्या बढ़ती जाएगी, छात्राओं को शैक्षणिक प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए लंबी दूरी तय नहीं करनी पड़ेगी। अधिक शैक्षणिक केंद्रों का मतलब है कि उच्च प्रतिशत छात्रों को डिग्री प्राप्त करने का अवसर मिलेगा।
  • नए बस रूट– प्रदेश में करीब 113 नए बस रूट भी स्थापित किए जाएंगे। ये मार्ग एक महत्वपूर्ण क्षेत्र को कवर करेंगे। बस सेवाओं में भी सुधार किया जाएगा ताकि छात्र बिना देर किए अपने स्कूल/कॉलेज पहुंच सकें।
  • सभी स्कूल और कॉलेज के छात्रों के लिए – योजना का लाभ उन सभी महिला उम्मीदवारों के लिए उपलब्ध होगा, जिन्होंने किसी भी स्कूल या कॉलेज में प्रवेश लिया है।
  • घटती दूरी – सीएम ने यह भी घोषणा की है कि राज्य कई नए शैक्षणिक संस्थान खोलने की योजना बना रहा है, ताकि किसी भी महिला उम्मीदवार को अच्छे स्कूल / कॉलेज में जाने के लिए 20 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय करने की आवश्यकता न हो।
  • दुर्गाशक्ति वाहिनी का गठन – इनके अलावा राज्य सरकार ने दुर्गाशक्ति वाहिनी के निर्माण पर भी ध्यान दिया है। ये समूह जरूरत पड़ने पर जरूरत पड़ने पर महिलाओं को सहायता प्रदान करेंगे। हरियाणा महिलाओं से संबंधित अपराधों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस लागू करने की राह पर है।

हरियाणा में महिला सुरक्षा

केंद्र सरकार 12 साल से कम उम्र की नाबालिगों के बलात्कार के मामलों में मौत की सजा देने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर कानून बनाने की दिशा में लगातार काम कर रही है। एक अन्य पहल के रूप में, सरकार पूरे देश में कन्या भ्रूण हत्या को खत्म करने के लिए भी कदम उठा रही है। समाज में व्याप्त ऐसी बुराइयों से निपटने के लिए सामाजिक संगठनों को राज्य सरकार के साथ मिलकर काम करना चाहिए।

पीएम मोदी द्वारा शुरू किए गए बेटी बचाओ बेटी पढाओ अभियान के परिणामस्वरूप लिंगानुपात में सुधार हुआ है। केवल हरियाणा में ही महिला सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कई कदम उठाए गए हैं। पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव में महिलाओं के लिए 33% आरक्षण है जिसके परिणामस्वरूप ग्राम पंचायतों में 42% महिला प्रतिनिधि हैं। हरियाणा में बीबीबीपी योजना शुरू होने के बाद, लिंगानुपात में सुधार हुआ है जो जून 2021 के महीने में प्रति 1000 लड़कों पर 911 लड़कियां है।

Click Here to Haryana Mukhyamantri Vivah Shagun Yojana Form PDF

सरकारी योजनाओं की जानकारी के लिए रजिस्ट्रेशन करें यहाँ क्लिक करें
फेसबुक पेज को लाइक करें (Like on FB) यहाँ क्लिक करें
टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिये (Join Telegram Channel) यहाँ क्लिक करें
इंस्टाग्राम पर हमें फॉलो करें (Follow Us on Instagram) यहाँ क्लिक करें
सहायता/ प्रश्न के लिए ई-मेल करें @ [email protected]

Press CTRL+D to Bookmark this Page for Updates

अगर आपको Haryana Chatra Parivahan Suraksha Yojana से सम्बंधित कोई भी प्रश्न पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है , हमारी टीम आपकी मदद करने की पूरी कोशिश करेगी। अगर आपको हमारी ये जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों को भी शेयर कर सकते है ताकि वो भी इस योजना का लाभ उठा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.