Bihar Mukhyamantri Ati Pichda Varg Udyami Yojana 2024

bihar mukhyamantri ati pichda varg udyami yojana 2024 2023 application form बिहार मुख्यमंत्री अति पिछड़ा वर्ग उद्यमी योजना bihar cm ebc entrepreneurship scheme मुख्यमंत्री अति पिछड़ा वर्ग उद्यमी योजना बिहार लिस्ट bihar udyami yojana mukhyamantri sc st udyami yojana list मुख्यमंत्री एससी एसटी उद्यमी योजना mukhyamantri sc st udhyami yojana apply online

Bihar Mukhyamantri Ati Pichda Varg Udyami Yojana 2024

Latest News : बिहार में उद्योग विभाग ने Bihar Mukhyamantri Udyami Yojana 2024-25 के लिए घोषणा कर दी है। घोषणा के अनुसार विभाग द्वारा मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के लिए 1 जुलाई 2024 से आवेदन शुरू हो जाएंगे। इस योजना ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से आवेदन स्वीकार किए जाएंगे और यह आवेदन प्रक्रिया 31 जुलाई 2024 तक जारी रहेगी। 

बिहार सरकार ने अत्यंत पिछड़े वर्ग श्रेणी के लोगों के लिए मुख्यमंत्री अति पिछड़ा वर्ग उद्यमी योजना शुरू की है। इस योजना के तहत राज्य सरकार एक नया व्यवसाय शुरू करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। यह एक प्रकार की लोन योजना है। पहले यह योजना केवल अनुसूचित जाति और जनजाति के लोगों के लिए थी लेकिन अब इस योजना में अति पिछड़ा वर्ग को भी शामिल कर दिया गया है। यह योजना 24 जनवरी 2020 को शुरू की थी। यह योजना नए उद्यमों को स्थापित करने में ईबीसी समुदायों के सभी योग्य सदस्यों को सक्षम करेगी।

bihar mukhyamantri ati pichda varg udyami yojana 2024

bihar mukhyamantri ati pichda varg udyami yojana 2024

उद्यम की स्थापना के लिए कुल वित्तीय सहायता का एक हिस्सा सब्सिडी के रूप में दिया जाएगा और दूसरा हिस्सा ब्याज मुक्त ऋण के रूप में होगा। नयी सीएम ईबीसी उद्यमिता योजना बिहार मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति/जनजाति उद्योग योजना की तर्ज पर चलेगा जिसे 2 साल पहले चालू किया गया था। इस नयी योजना को 30% पिछड़े वर्गों के वोटों के साथ लॉन्च किया गया है।

बिहार जाति आय और निवास प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन के लिए यहाँ क्लिक करें

योजना का नाम बिहार मुख्यमंत्री अति पिछड़ा वर्ग उद्यमी योजना
उद्देश्य  ईबीसी युवाओं को एक नया व्यवसाय शुरू करने या एक उद्यम स्थापित करने में सक्षम बनाना
लाभार्थी अत्यंत पिछड़े वर्ग श्रेणी से सम्बंधित युवा
वित्तीय सहायता  2 घटकों में 10 लाख रुपए
1 घटक  राज्य सरकार की सब्सिडी के रूप में 5 लाख रुपए
2 घटक  ब्याज मुक्त ऋण के रूप में 5 लाख रुपए

बिहार मुख्यमंत्री अति पिछड़ा वर्ग उद्यमी योजना की लाभार्थी लिस्ट

सरकार वित्तीय सहायता देने पहले अपने चुने हुए क्षेत्र में चयनित आवेदकों के समुचित प्रशिक्षण की व्यवस्था करेगी। मुस्लिम अल्पसंख्यक समुदाय की कई जातियां बभी ईबीसी श्रेणी में आती है। बिहार राज्य में लगभग 130 जातियां राज्य सरकार की ईबीसी श्रेणी के अंतर्गत सूचीबद्ध है। इनमे से अंसारी, जुलाहा, मोमिन, धुनिया, चुहियार , बख्खो, रंगरेज, मदार आदि सहित लगभग 36 जातियाँ मुस्लिम समुदाय से आती है।

मुख्यमंत्री अति पिछड़ा वर्ग उद्यमी योजना के लाभ

  • इस योजना के साथ सरकार राज्य में लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने के विकल्प लेकर आयी है।
  • सरकार की शुरू की गयी इस पहल से बेरोजगारी दर मेंकमी आने का अनुमान लगाया गया है।
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के सभी आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को व्यवसाय शुरू करने में वित्तीय मदद मिले जिससे उन्हें व्यवसाय या स्टार्टअप शुरू करने में वित्त से सम्बंधित कोई भी मुश्किलें न आये।
  • इस योजना को लागू कर बिहार राज्य सरकार द्वारा सूक्ष्म एवं लघु उद्योग को बढ़ावा दिया जा रहा है।

मुख्यमंत्री अति पिछड़ा वर्ग उद्यमी योजना के तहत लोन के लिए आवेदन कैसे करें

  • इस योजना के तहत लोन राशि प्राप्त करने के लिए बिहार निवासियों को सर्वप्रथम बिहार उद्योग विभाग की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होता है
  • इसके बाद नीचे उन्हें ‘योजना के लिए रजिस्टर करें’ लिखा हुआ दिखाई देगा उस पर क्लिक करन होता है यहाँ वे इस डायरेक्ट लिंक पर सीधे क्लिक करके पहुँच सकते हैं
  • अब यहाँ उन्हें अपनी कुछ जानकारी देनी होती है जैसे उनका नाम, मोबाइल नंबर एवं आधार कार्ड नंबर आदि. इसके बाद ‘ओटीपी प्राप्त करें’ बटन पर क्लिक करन होता है
  • ओटीपी प्राप्त होने से उनका मोबाइल नंबर सत्यापित हो जाता है. और फिर उनकी स्क्रीन पर इस योजना का आवेदन फॉर्म खुल जाता हैं
  • इस फॉर्म को लाभार्थी को सावधानी पूर्वक सभी सही जानकारी के साथ भरना होता है. और साथ ही आवेदक इसमें अपने सभी दस्तावेजों को स्कैन करके अपलोड भी कर सकते हैं
  • इसके बाद अंत में वे सबमिट बटन पर क्लिक करके इस योजना के आवेदन की प्रक्रिया को अंजाम दे सकते हैं.

Also Read : Bihar Mukhyamantri Kanya Vivah Yojana

स्टार्टअप बिहार पोर्टल पर बिहार मुख्यमंत्री ईबीसी उदमी योजना की सूची

यहां स्टार्टअप बिहार पोर्टल पर मुख्यमंत्री ईबीसी उदमी योजना के लिए परियोजनाओं की पूरी सूची दी गई है: –

1 बेकरी उत्पाद (पावरोटी, बिस्कुट, रस्क इत्यादि) (Bakery Products (Bread, Biscuits, Rusk etc)
2 आटा, सत्तु एवं बेसन उत्पादन (Atta, Sattu & Besan Manufacturing)
3 पशु आहार उत्पादन (Cattle Feed Manufacturing)
4 मुर्गी दाना का उत्पादन (Poultry Feed Manufacturing)
5 तेल मिल (Oil Mill)
6 मसाला उत्पादन (Spice Production)
7 नमकीन उत्पादन (Namkeen Production)
8 आइसक्रीम उत्पादन (Ice Cream Manufacturing)
9 जैम/जेली/सॉस उत्पादन (Jam/Jelly/Sauce Manufacturing)
10 कार्नफ्लेक्स उत्पादन (Corn Flakes Manufacturing)
11 नूडल्स उत्पादन (Noodles Manufacturing)
12 दाल मिल (Pulse Mill)
13 पापड़ एवं बड़ी उत्पादन (Papad & Bari Manufacturing Unit)
14 पाँपकार्न उत्पादन (Popcorn Manufacturing Unit)
15 आचार, मुरब्बा उत्पादन (Pickles Manufacturing Unit)
16 पोहा/चुड़ा उत्पादन (Poha/Chura Manufacturing Unit)
17 बीज प्रसंस्करण एवं पैकेजिंग (Seed Processing & Packaging)
18 मधु प्रसंस्करण (Honey Processing)
19 फलों के जूस की इकाई (Fruit Juice)
20 मखाना प्रोसेसिंग (Makhana Processing)
21 मिठाई उत्पादन (Sweets Production)
22 बोतल बंद पानी (Packaged Drinking Water)
23 बढ़ईगिरी (Carpentry)
24 बाँस का सामान, फर्निचर उत्पादन इकाई (Bamboo Article and Furniture Manufacturing unit)
25 बढई गिरी एवं लकड़ी के फर्निचर (Carpentry & Wood Furniture Workshop)
26 बेंत का फर्निचर निर्माण (Cane Furniture Manufacturing)
27 सीमेन्ट का जाली, दरवाजा एवं खिड़की इत्यादि (Cement Jalli, Doors, windows etc.)
28 फ्लाई एष ब्रिक्स (Fly Ash Bricks)
29 पूर्व निर्मित भवन निर्माण सामग्री (Pre-Fabricated Building Material)
30 सीमेन्ट कंक्रीट पोल (Pre-Stressed Cement Concrete Pole)
31 सीमेन्ट ब्लॉक एवं टाइल्स (Paver Block and Tiles)
32 कंक्रीट ह्यूम पाईप (R.C.C. Spun Hume Pipe)
33 प्लास्टर ऑफ़ पेरिस का सामान (Plaster of Paris Item)
34 मार्बल कटिंग एवं पोलिशिंग (Marble cutting and Polishing)
35 डिटर्जेन्ट पाउडर, साबुन एवं शैम्पु (Detergent Powder, Soap & Shampoo)
36 मच्छर भगाने का टिकिया (Mosquito Repellent Mat)
37 डिस्पोजेबल डाइपर एवं सेनेटरी नैपकिंन (Disposable Diaper and Sanitary Napkin)
38 हाथ से बना हुआ कागज (Hand-Made Paper Making)
39 बिन्दी एव मेहंदी उत्पादन इकाई (Bindi&Mehandi Manufacturing Unit)
40 केश तेल का उत्पादन (Manufacturing of Hair Oil)
41 अगरबत्ती उत्पादन (Agarbatti Manufacturing)
42 मोमबत्ती उत्पादन (Candle Manufacturing)
43 नोटबुक/कॉपी /फाईल/फोल्डर उत्पादन (Note Book/Copy/File/Folder Manufacturing)
44 प्लास्टिक सामग्री/बॉक्स/बोटल्स (Plastic Items / Boxes / Bottles)
45 स्पोर्ट्स जूता (Sports Shoes)
46 पी0 भी0 सी0 जूता/चप्पल (PVC foot wear)
47 रबड़ का मोहर (Rubber Stamp)
48 अल्यूमिनियम फर्निचर का निर्माण (Aluminium Furniture/ Fabricator)
49 कृषि यंत्र निर्माण (Agri Equipment Manufacturing Unit)
50 गेटग्रिल निर्माण एवं वेल्डिंग इकाई (Gate grill Fabrication Unit / Welding Unit)
51 हॉस्पिटल बेड/ट्राली निर्माण की इकाई (Hospital Bed / Trolleys Manufacturing Unit)
52 मधुमक्खी का बक्सा निर्माण (Bee-Box Manufacturing)
53 हल्के वाहन के बॉडी निर्माण (Light Commercial Vehicle Body Building)
54 आभूषण निर्माण वर्कशॉप (Gold Manufacturing Workshop)
55 रौलिंग शटर (Rolling Shutters)
56 स्टील का बॉक्स/ट्रंक/रैक निर्माण (Steel Box / Trunk / Racks Manufacturing Unit)
57 स्टील का फर्नीचर (Steel Furniture)
58 स्टील का अलमीरा निर्माण (Steel Almirah Manufacturing)
59 एल0 ई0 डी0 बल्ब/सजावटी बल्ब निर्माण (LED Bulb/Decorative Bulb Manufacturing)
60 बिजली पंखा एसेम्बलिंग (Electrical Fan assembling)
61 स्टेबिलाइजर/इनवर्टर/यू0पी0एस0/सी0वी0टी0 एसैम्बलिंग (Stabilizer / Inverter / UPS / CVT assembling)
62 कूलर निर्माण (Cooler Manufacturing)
63 आई0 टी0 बिजनेस केन्द्र (IT Business Centre)
64 वेब सॉफ्टवेयर डेवलपमेन्ट एवं डिजाईनिंग (Web Software Development & Web Designing Centre)
65 डेस्कटॉप पब्लिसिंग एवं स्क्रीनप्रिन्टिग (Desktop Publishing & Screen Printing)
66 फ्लैक्स प्रिन्टिग (Flex Printing)
67 कम्प्यूटर हार्डवेयर एसैम्बलिंग एवंनेटवर्किंग (Computer Hardware Assembling Maintenance & Networking)
68 मोबाईल एवं चार्जर रिपेयरिंग (Mobile Repairing & Mobile Charger Making)
69 ऑटो गैरेज (Auto Garage)
70 एयर कंडिसन रिपेयरिंग (Air Conditioner repair Service)
71 टू-व्हीलर रिपेयरिंग (Two Wheeler Repairing Shop)
72 टायर रिट्रेडिग (Tyre Vulcanizing / Retread)
73 डीजल इंजन एवं पम्प रिपेयरिंग (Repair of Diesel Engines & Pump Sets)
74 बिजली मोटर बाइडिंग (Motor Winding)
75 पलम्बरिंग कार्य (Plumbing Work)
76 घरेलू बिजली वायरिंग एवं रिपेयरिंग (Home Wiring & repair)
77 सैलून (Barber Shop (Saloon)
78 ब्यूटीपार्लर (Beauty Parlour)
79 ढ़ाबा/होटल/रेस्टोरेन्ट/फुड ऑन व्हील्स (Establishment of Dhaba/ Hotel/Restaurant/Food on Wheels)
80 टेन्ट हाउस एवं इवेन्ट मैनेजमेन्ट (Tent House/ Event Management)
81 ड्राईक्लीनिंग (Dry Cleaning)
82 पैथोलोजिकल जाँच घर (Medical Diagnostic Centre)
83 टूरिस्ट टैक्सी (Tourism Taxi)
84 चाँदी जेवर निर्माण (Silver Jewellery making Unit)
85 पेपर कप एवं प्लेट निर्माण (Paper Cups & Plate)
86 प्लास्टिक वेस्टरी-प्रोसेसिंग (Reprocessing of Plastic Waste unit)
87 केला रेशा निर्माण (Banana Fibre)
88 पत्ता-प्लेट (Leaf Cup & Plates)
89 रेडिमेड वस्त्र निर्माण (Readymade garments)
90 कसीदाकारी (Knitting Machines & Garments)
91 बेडसीड, तकिया कवर निर्माण (Bed Sheet with Pillow Covers Set)
92 मच्छरदानी निर्माण (Mosquito Net Manufacturing)
93 चमड़े के जैकेटस निर्माण (Leather Garments)
94 चमड़े के जूता निर्माण (Leather Shoes)
95 चमड़े के बैग, बेल्टस, वालेट एव ग्लोब्स आदि निर्माण (Leather Accessories like Bags, Belts, Wallets & Gloves etc.)
96 चमडे़ एवं रेक्सीन का सीट कवर निर्माण (Leather and Rexin Sheets Cover for Vehicles)
97 पीतल/ब्रास नक्कासी (Brass / Bronze Craft)
98 काष्ठ कला आधारित उद्योग (Wood based Craft Industries)
99 पत्थर की मूर्ति निर्माण (Stone based)
100 जूट आधारित क्राफ्ट (Jute based)
101 लाह चूड़ी निर्माण (Lac Bangles)
102 अन्य (Others)

मुख्‍य मंत्री ईबीसी उदमी योजना की प्रमुख विशेषताएं

Mukhyamantri EBC Udyami Yojana की महत्वपूर्ण विशेषताएं इस प्रकार हैं: –

  • मुख्यमंत्री ईबीसी उद्यमिता योजना के तहत, सरकार वित्तीय सहायता के रूप में 10 लाख रुपये प्रदान करेगी।
  • इस कुल राशि में से 5 लाख रुपये सब्सिडी के रूप में और 5 लाख रुपये ईबीसी उद्यमियों को ऋण राशि के रूप में दिए जाएंगे।
  • ऋण राशि पर कोई ब्याज नहीं लिया जाएगा। 5 लाख रुपए का लोन पूरी तरह से ब्याज मुक्त होगा यानी चुकाने के दौरान उद्यमियों को कोई अतिरिक्त राशि नहीं देनी होगी।
  • Mukhyamantri EBC Udyami Yojana के तहत, उद्यमियों को 84 समान किश्तों में ऋण चुकौती करनी होगी।
  • चुकौती किस्त प्रस्तावित उद्योग या व्यापार शुरू होने के बाद ही शुरू होगी।
  • ब्याज मुक्त ऋण प्राप्त करने की प्रक्रिया को सरल बनाया गया है। अब किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंकों से लाभार्थी द्वारा स्व घोषणा पर ऋण दिया जाएगा।

EBC के सदस्यों को हमेशा ऋण प्राप्त करने में कठिनाई का सामना करना पड़ता है क्योंकि बैंक किसी एक बहाने या अन्य पर अपने आवेदनों को अस्वीकार करते थे। यह योजना उन्हें बिना किसी ब्याज के बैंकों से ऋण लेने में मदद करेगी। यह योजना उन्हें अन्य उम्मीदवारों को रोजगार प्रदान करने में सक्षम बनाएगी। राज्य सरकार। समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के समग्र जीवन स्तर में सुधार के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है। बिहार सरकार ईबीसी समुदाय के सभी उद्यमियों को मुख्यधारा में शामिल करना चाहती है।

Helpline Number :  1800 345 6214

मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अति पिछड़ा वर्ग उद्यमी योजना के लिए यहाँ क्लिक करें

 

बिहार राज्य सरकार की सभी योजनाओं की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

सरकारी योजनाओं की जानकारी के लिए रजिस्ट्रेशन करें यहाँ क्लिक करें
फेसबुक पेज को लाइक करें (Like on FB) यहाँ क्लिक करें
टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिये (Join Telegram Channel) यहाँ क्लिक करें
इंस्टाग्राम पर हमें फॉलो करें (Follow Us on Instagram) यहाँ क्लिक करें
सहायता/ प्रश्न के लिए ई-मेल करें @ disha@sarkariyojnaye.com

Press CTRL+D to Bookmark this Page for Updates

अगर आपको मुख्यमंत्री अति पिछड़ा वर्ग उद्यमी योजना से सम्बंधित कोई भी प्रश्न पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है , हमारी टीम आपकी मदद करने की पूरी कोशिश करेगी। अगर आपको हमारी ये जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों को भी शेयर कर सकते है ताकि वो भी इस योजना का लाभ उठा सके।

4 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *