डाकघर मासिक आय योजना 2019 | Post Office Monthly Income Scheme Online Form

Share with your Friends

डाकघर मासिक आय योजना 2019 post office monthly income scheme कैसे करें निवेश जरूरी दस्तावेज आवेदन ब्याज दरें post office mis interest rate calculator डाकघर बचत योजना post office child plan मासिक आय खाता योजना

डाकघर मासिक आय योजना 2019 (Post Office Monthly Income Scheme) Application Form

पोस्ट ऑफिस ने एक नयी योजना मासिक आय योजना शुरू की है। यह योजना उनके लिए फायदेमंद है जिनकी कोई मंथली इनकम नहीं है लेकिन उनके पास पूँजीगत धन है। डाकघर मासिक आय योजना के माध्यम से कोई भी व्यक्ति एकमुश्त रकम जमा करके उसके बदले हर महीने ब्याज उठा सकता है। इस योजना से आपकी आय भी होती रहेगी और आपका पूरा पैसा सुरक्षित भी रहेगा। इस योजना को एमआईएस योजना के नाम से भी जाना जाता है। यह योजना उन व्यक्तियों के लिए है जिनके पास मासिक आय का कोई साधन नहीं है। ऐसे व्यक्ति इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर अपने लिए मासिक आय का प्रबंध कर सकते है। अपने से दूर रहने वाले किसी सगे सम्बन्धी के नियमित खर्चों को पूरा करने के लिए भी यह एक बढ़िया स्कीम है। सरकारी योजना होने से यह पूरी तरह जोखिम रहित है। साथ ही साथ इसमें ब्याज भी अच्छी मिलती है।

डाकघर मासिक आय योजना 2019
डाकघर मासिक आय योजना 2019

डाकघर मासिक आय योजना FD की तुलना में ज्यादा return देता है। इस योजना में डाकघर 7.5 के करीब का ब्याज दर दे रही है। इस स्कीम में आप न्यूनतम 1500 रूपए हर महीने जमा करके भी निवेश शुरू कर सकते है। यह योजना एनआरआई अविभाजित फैमिली के लिए नहीं है।

योजना का नाम पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम
योजना टाइप बचत योजना
विभाग भारतीय डाकघर
लाभार्थी `भारत के सभी नागरिक
लाभ सालाना 7.6% ब्याज
आवेदन की तिथि आवेदन जारी है

डाकघर मासिक आय योजना के मुख्य तथ्य

  • खाता सिंगल भी खोला जा सकता है।
  • यह खाता कैश या चेक दोनों माध्यमों से खोला जा सकता है।
  • इस खाते को ट्रांसफर भी किया जा सकता है।
  • खाते में नोमिनी की भी सुविधा है।
  • इस योजना के तहत कितने भी खाते खुलवाए जा सकते है।
  • खाता नाबालिग के नाम से भी खुलवाया जा सकता है। 10 वर्ष से अधिक के बच्चे अपने खाते को खुद संचालित कर सकते है।
  • जॉइंट अकाउंट दो या तीन वयस्कों द्वारा खोला जा सकता है।
  • डाकघर मासिक आय योजना में जमा रकम के बदले जो आपको हर महीने किश्त मिलती है वह महीने के महीने आपके खाते में पहुँच जाती है। जिस शाखा में मासिक आय योजना खाता खुला है, वहां अगर कोर बैंकिंग की सुविधा नहीं है तो आपको फिर उसी शाखा में सेविंग अकाउंट रखना होता है जिसमें आपकी किश्तें पहुंचेंगी।

प्रधानमंत्री वया वंदना योजना 2019 Vaya Vandana Yojana PMVVY Online Application के लिए यहां क्लिक करें 

डाकघर मासिक आय योजना में जमा के नियम

  • कम से कम 1500 रूपए जमा करके मासिक आय योजना का खाता खुलवाया जा सकता है। सिंगल अकाउंट होने पर अधिकतम 4.5 लाख रूपए जमा किया जा सकते है और जॉइंट अकाउंट होने पर अधिकतम 9 लाख रूपए जमा किये जा सकते है।
  • खाता नकदी, चेक या किसी भी माध्यम से पैसा जमा करके खोला जा सकता है, चेक से जमा करने  की स्थिति में खाता खुलने की तिथि वही मानी जाएगी जिस तिथि को चेक सरकार के खाते में जमा होगा। जिस तारीख में अपने चेक जमा किया है वो तिथि नहीं मानी जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत पैसा पोरे पांच साल के लिए जमा किया जाता है इससे पहले पैसा निकलने पर पेनेल्टी काट ली जाती है।

खाता खोलने के नियम

  • पोस्ट ऑफिस में खाता किसी व्यक्ति के नाम से खोला जा सकता है किसी परिवार संस्था के नाम से नहीं।
  • एक व्यक्ति अपने नाम पर कितने भी अकाउंट खुलवा सकता है लेकिन उसके मासिक आय योजना खातों में अधिकतम बैलेंस 4.5 लाख से ज्यादा नहीं होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत दो व्यक्ति भी जॉइंट अकाउंट खोल सकते है। जॉइंट अकाउंट के बदले में मिलने वाली आमदनी की जो भी आय होगी वह दोनों खाताधारकों में बराबर बराबर बाँट दी जाएगी।
  • जॉइंट अकाउंट को कभी भी सिंगल अकाउंट में परिवर्तित किया जा सकता है। इसी प्रकार सिंगल अकाउंट को कभी भी जॉइंट अकाउंट में परिवर्तित किया जा सकता है।
  • अकाउंट का प्रारूप बदलने के लिए दोनों खाताधारकों हस्ताक्षर युक्त आवेदन पत्र की आवश्यकता होगी।
  • इस योजना के तहत किसी नाबालिग 18 वर्ष से कम या किसी बच्चे के नाम से भी खाता खोला जा सकता है।
  • 10 साल से कम उम्र के बच्चे का अकाउंट संचालन का अधिकार माता -पिता या कानूनी अभिवावक के पास होगा। 10 वर्ष की उम्र पार कर लेने के पर बच्चा अपना अकाउंट का संचालन खुद कर सकता है।
  • 10 अधिक उम्र का बच्चा अपने नाम स्वतंत्र अकाउंट भी खुलवा सकता है।

पेनल्टी नियम

मासिक आय योजना में 5 साल पैसा जमा किया जाता है लेकिन आकस्मिक कारणों से इससे पहले पैसा निकाला जा सकता है। हालाँकि पहले पैसा निकालने पर कुछ पैसा काट लिया जाता है। पैसे काटने के नियम कुछ इस प्रकार है :-

  • खाता खोलने के 1 साल तक पैसा नहीं निकला जा सकता है।
  • अकाउंट खुलने के 1 साल से 3 साल के बीच में पैसा निकालते है तो जमा रकम का 2% काटकर वापस किया जायेगा।
  • अकाउंट खुलने के 3 साल बाद मैच्योरिटी के पहले कभी भी पैसा निकालते है तो आपकी जमा रकम का 1% काट लिया जायेगा।

डाकघर मासिक आय योजना की ब्याज दर

डाकघर मासिक आय योजना के अंतर्गत सरकार 7.5% के लगभग का ब्याज दर दे रही है। सरकार प्रत्येक तिमाही को ब्याज दर की घोषणा करती है। मासिक आय योजना के अंतर्गत पोस्ट ऑफिस द्वारा दिनांक 01/07/2019 से 7.6% वार्षिक ब्याज दर देय होगा।

टैक्स छूट

आयकर कानून के 80सी के तहत डाकघर मासिक आय योजना में निवेश पर छूट टैक्स छूट नहीं है। एमआईएस के ब्याज पर टैक्स लगता है। हालाँकि इससे होने वाली कमाई पर पोस्ट ऑफिस किसी तरह का TDS नहीं काटता है।

खाता ट्रांसफर

इस योजना के अपने अकाउंट ट्रांसफर भी करा सकते है। यदि आप एक शहर से दूसरे शहर में ट्रांसफर हो गए है तो आप एमआईएस खाता ट्रांसफर हो जायेगा। इसके लिए आपको कोई भी शुल्क नहीं देना पड़ेगा।

डाकघर मासिक आय योजना के लिए जरूरी दस्तावेज

  • आवेदक का फोटो
  • पैन कार्ड
  • KYC फॉर्म
  • आधार कार्ड
  • पोस्ट बचत खाते का फॉर्म

डाकघर मासिक आय योजना के लिए आवेदन

  • इस योजना के तहत खाता खुलवाने के लिए आप किसी भी नजदीकी पोस्ट ऑफिस में जाकर संपर्क कर सकते है।
  • सबसे पहले आपको मासिक आय योजना के अंतर्गत आवेदन के पूर्व बचत खाता खोलना होगा।
  • उसके बाद आप आसानी से इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है।

पोस्ट ऑफिस की आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें

डाकघर मासिक आय योजना की अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

KYC फॉर्म डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें

अधिक जानकारी के लिए टोल फ्री नंबर 18002666868 पर भी कॉल कर सकते है

अगर आपको डाकघर मासिक आय योजना से सम्बंधित कोई भी प्रश्न पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है , हमारी टीम आपकी मदद करने की पूरी कोशिश करेगी। अगर आपको हमारी ये जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों को भी शेयर कर सकते है ताकि वो भी इस योजना का लाभ उठा सके।

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *