Portable Petrol Pumps in India, Cost & How to Setup

Share it with your Friends

portable petrol pumps in india are now official with government approval, here are complete details of portable petrol pumps such as setup cost, benefits & others भारत में पोर्टेबल पेट्रोल पंप

Portable Petrol Pumps in India

केंद्र सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने देश में पोर्टेबल पेट्रोल पंप स्थापित करने की मंजूरी दे दी है। इन पेट्रोल पंपों को स्थापित करने और वितरित करने की जिम्मेदारी दिल्ली की एक कंपनी – एलिंज पोर्टेबल पेट्रोल पंप प्राइवेट लिमिटेड को सौंपी गई है, जिसने चेक गणराज्य के साथ समझौता किया है। चेक गणराज्य भारत में पोर्टेबल पेट्रोल पंपों के लिए मशीनरी बनाने के लिए बुनियादी ढांचे की स्थापना में मदद करेगा।

portable petrol pumps in india

portable petrol pumps in india

इन पोर्टेबल पेट्रोल पंपों के जरिए कोई भी व्यक्ति अपने वाहनों में खुद पेट्रोल/डीजल/गैस भर सकता है। इसके लिए लोगों को किसी अन्य कार्यकर्ता पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। सरकार का देश में लगभग 50,000 पोर्टेबल पेट्रोल पंप स्थापित करने का लक्ष्य है। पेट्रोल/डीजल/गैस आज के जीवन में सभी के लिए एक प्रमुख आवश्यकता है और इस प्रकार लोगों को इस मॉडल के माध्यम से अत्यधिक लाभ मिलेगा।

पोर्टेबल पेट्रोल पंप का यह कॉन्सेप्ट भारत में बिल्कुल नया है, लेकिन यह कॉन्सेप्ट पहले से ही दुनिया भर के 35 देशों में लागू किया जा रहा है। इसलिए, यहां हम इस अवधारणा के बारे में सबसे उपयोगी और आवश्यक विवरण कवर करने जा रहे हैं।

Also Read : Post Office Monthly Income Scheme

पोर्टेबल पेट्रोल पंप क्या है?

इस प्रकार के पेट्रोल पंप विशेष रूप से छोटे और दूर-दराज के क्षेत्रों के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। एलिंज के प्रबंध निदेशक के अनुसार, कोई भी व्यक्ति इन पेट्रोल पंपों के माध्यम से अपने दम पर पेट्रोल/डीजल भर सकता है (पेट्रोल, डीजल और गैस का स्वयं सेवा वितरण)। इस उद्देश्य के लिए अन्य श्रमिकों को तैनात करने की आवश्यकता नहीं है।

पोर्टेबल और कॉमन पेट्रोल पंप में क्या अंतर है?

पोर्टेबल पेट्रोल पंपों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाया जा सकता है, जबकि आम पेट्रोल पंप या फिलिंग स्टेशन एक जगह तय किए जाते हैं। जगह की आवश्यकता भी बहुत कम है और इसे कहीं भी स्थापित किया जा सकता है जबकि सामान्य पेट्रोल पंपों को स्थापना के लिए बड़ी मात्रा में भूमि की आवश्यकता होती है।

इस पीपीपी मशीन से कोई पेट्रोल कैसे भर सकता है?

पोर्टेबल पेट्रोल पंपों की मशीनें अन्य सामान्य पेट्रोल पंपों पर काम करने वाली मशीनों की तरह ही काम करेंगी। लेकिन इन पंपों पर कोई कर्मचारी उपलब्ध नहीं है। इन मशीनों में कोई भी व्यक्ति उस राशि का भुगतान कर सकता है जिसके लिए वह अपने वाहन को फिर से भरना चाहता है और फिर वांछित पेट्रोल/डीजल भर सकता है।

पोर्टेबल पेट्रोल पंप कैसे काम करते हैं – संचालन प्रक्रिया?

बैंकों की एटीएम मशीनों की तरह यहां भी यही कॉन्सेप्ट फॉलो किया जाता है। कोई भी व्यक्ति किसी भी बैंक की एटीएम मशीन से कभी भी पैसे निकाल सकता है। इसी प्रकार कोई भी व्यक्ति कैशलेस भुगतान कर अपने वाहनों में स्वयं पेट्रोल/डीजल भर सकता है।

पोर्टेबल पेट्रोल पंप पर भुगतान कैसे करें?

कोई भी व्यक्ति जो अपने वाहनों में तेल (पेट्रोल/डीजल) या गैस फिर से भरना चाहता है, उसे कैशलेस लेनदेन करना होगा। क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड, इलेक्ट्रॉनिक वॉलेट भुगतान के प्राथमिक साधन होंगे।

पोर्टेबल पेट्रोल पंपों की कीमत कितनी होगी?

यह एक सामान्य प्रश्न है कि इन पोर्टेबल पेट्रोल पंपों को स्थापित करने में कितना खर्च आएगा, लेकिन अभी तक कोई सटीक जानकारी उपलब्ध नहीं है। हालांकि, एलिंज कंपनी 4 संयंत्र स्थापित करने के लिए लगभग 1600 करोड़ खर्च करेगी जहां इन मशीनों का निर्माण किया जाएगा।

यह भारत में कब तक आएगा?

केंद्र सरकार ने इन पेट्रोल पंपों की स्थापना के इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। एलिंज प्रक्रिया की मंजूरी के लिए राज्य सरकार और अन्य पेट्रोलियम कंपनियों के साथ बातचीत कर रहा है। मंजूरी मिलने के बाद, सरकार इस योजना को लागू करना शुरू कर देगी, लेकिन अभी तारीखों को अंतिम रूप नहीं दिया गया है।

Also Read : Kisan Vikas Patra

भारत में कितने पोर्टेबल पेट्रोल पंप स्थापित किए जाने हैं?

Alinz का लक्ष्य भारत में अगले 5 से 7 वर्षों में लगभग 50,000 पोर्टेबल पेट्रोल पंप स्थापित करने का है।

पोर्टेबल पेट्रोल पंप मशीन की क्षमता क्या है?

इन पंपों के कंटेनरों में 9,000 से 30,000 लीटर पेट्रोल/डीजल/गैस तक की कार्य क्षमता होगी।

पोर्टेबल पेट्रोल पंप के क्या फायदे हैं?

इन पेट्रोल पंपों से ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों और उन लोगों को काफी फायदा होगा जो लगातार गांवों से बाहर शहरों में जाने के लिए घूमते रहते हैं. इन मशीनों के लग जाने से लोगों को दूर-दराज के इलाकों में आसानी से पेट्रोल/डीजल मिल जाएगा।

ये पेट्रोल पंप कहां स्थापित किए जा सकते हैं?

निम्नलिखित कुछ स्थान हैं जहां ये पंप स्थापित किए जा सकते हैं।

  • फिलिंग स्टेशनों के कम विकसित बुनियादी ढांचे वाले क्षेत्र
  • कंपनियों के परिसर (वाहक)
  • बड़े निर्माण स्थल
  • कृषि क्षेत्र
  • शॉपिंग सेंटरों की जंजीर
  • रेलवे डिपो
  • छोटे हवाई अड्डे (एयरो क्लब)
  • पुलिस के पास, सेना के परिसर
  • बाढ़ और प्राकृतिक आपदाओं के दौरान उपयोग
  • छोटी नगरपालिकाएं और गांव
  • अस्पताल (बचाव सेवा)
  • बंदरगाहों
  • बचाव दल
  • कार या मोटरबाइक चैंपियनशिप

भारत में पोर्टेबल पेट्रोल पंपों के बारे में अधिक जानकारी के लिए, alinz की आधिकारिक वेबसाइट http://alinzbuyinghouse.com पर जाएं।

Click Here to CNG Pump Dealership Online Application Form

सरकारी योजनाओं की जानकारी के लिए रजिस्ट्रेशन करेंयहाँ क्लिक करें
फेसबुक पेज को लाइक करें (Like on FB)यहाँ क्लिक करें
टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिये (Join Telegram Channel)यहाँ क्लिक करें
सहायता/ प्रश्न के लिए ई-मेल करें @disha@sarkariyojnaye.com

Press CTRL+D to Bookmark this Page for Updates

अगर आपको Portable Petrol Pumps in India से सम्बंधित कोई भी प्रश्न पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है , हमारी टीम आपकी मदद करने की पूरी कोशिश करेगी। अगर आपको हमारी ये जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों को भी शेयर कर सकते है ताकि वो भी इस योजना का लाभ उठा सके।

9 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *