ODOP Scheme Uttar Pradesh 2019 UP एक जिला एक उत्पाद योजना, उत्पादों की सूची

Share with your Friends

ODOP Scheme Uttar Pradesh one district one product scheme 2019 list of districts and products up odop scheme 2019 एक जिला एक उत्पाद योजना uttar pradesh one district one product एक जनपद एक उत्पाद योजना up government schemes वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट स्कीम

ODOP Scheme Uttar Pradesh One District one product scheme एक जिला एक उत्पाद योजना (जिलों और उत्पादों की सूची)

Latest News:- Now In Every District, ODOP Enterprise meet will be organized by UP Government. Under this Process, Enterprise Meet in Lucknow will held on 21, 22 September 2019. Check ODOP Business Meet (उद्यम समागम) District wise schedule from Image below…..

प्रदेश के सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योगों के साथ ही एक जिला एक उत्पाद के उद्यमियों की वित्तीय दिक्कतों को दूर करने और बैंकों की भागदौड़ बचाने के लिए सरकार बिज़नेस कार्ड देगी। पूरी जानकारी के लिए नीचे दी गयी इमेज को देखें :-

ODOP Scheme Uttar Pradesh
ODOP Scheme Uttar Pradesh

खुशखबरी !! प्रदेश मे ओडीओपी योजना के तहत उद्यमियों को अधिकतम 2000 हजार रुपये की टूल किट बांटी जायेगी। कारीगरों को तकनीकी प्रशिक्षण भी दिया जाएगा, साथ ही दस दिनों के प्रशिक्षण के दौरान 200 रुपए रोज़ मानदेय भी दिया जाएगा। पूरी जानकारी नीचे दी हुयी है….

ओडीओपी योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2020-21 तक एक लाख से ज्यादा कारीगरों व हस्तशिल्पियों को जोड़ा जायेगा और मार्जिन मनी योजना के तहत डेढ़ लाख लोगों को कर्ज भी दिलाया जायेगा। पूरी जानकारी के लिए नीचे दी गयी इमेज को देखें :- 

ODOP Scheme Uttar Pradesh
ODOP Scheme Uttar Pradesh

उत्तर प्रदेश सरकार ने एक जिला एक उत्पाद योजना को जनवरी 2018 में लॉन्च किया था। प्रदेश में लघु और मध्यम उद्योगों को बढ़ावा देने और स्वरोजगार को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से इस योजना को शुरू किया गया है। उत्तर प्रदेश सरकार की योजनाओं की सूची में बहुत सी ऐसी योजनाएं है जो बेरोजगारों को रोजगार देने में मदद करती है। एक जिला एक उत्पाद योजना के अंतर्गत अभी तक 5 लाख युवाओं को रोजगार मिल चुका है। यह योजना राज्य के सकल घरेलु उत्पाद को 2% तक बढ़ाएगी। सरकार ने विभिन्न राज्यों में कार्य कर रहे कई उद्योमों के सहयोग से इस योजना को शुरू किया है।

एक जिला एक उत्पाद योजना
एक जिला एक उत्पाद योजना

उत्तर प्रदेश में कांच का सामान, लखनवी कढ़ाई से युक्त कपड़े, विशेष चावल आदि बहुत प्रसिद्ध है। ऐसे सभी आइटम छोटे से गांव के छोटे-छोटे कलाकार बनाते है, जो साधनों की कमी के बावजूद अपनी कला को दुनिया में बिखरते है. लेकिन समय के साथ इन छोटे कलाकार का अस्तित्व भी गुम होता जा रहा है, इन छोटे लघु उद्योग की जगह बड़े-बड़े कारखानो ने ली है, जहाँ हाथ की बयाज मशीन से काम होता है. हाथ की कारीगर को उनका वो दाम नही मिलता, जितना उनको मिलना चाहिए। यह ऐसे ही खोये हुए कलाकार को रोजगार देगी, उत्तर प्रदेश में जो भी जिला, जनपद जिस विशेष सामान के लिए जानी जाती है, उधर के लघु उद्योग को पैसा देगी, वहां पर काम करने वालों को आगे बढ़ाएगी।

योजना का नाम उत्तर प्रदेश एक जिला एक उत्पाद योजना
विभाग सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन विभाग
लाभार्थी राज्य के सभी निवासी
योजना की स्थिति उपलब्ध है
आवेदन की तिथि हमेशा खुली है

Karobari Pension Yojana 2019 Apply | व्यापारी पेंशन मानधन योजना आवेदन फॉर्म, पात्रता के लिए यहां क्लिक करें 

एक जिला एक उत्पाद योजना का उद्देश्य

एक जनपद – एक उत्पाद योजना के मुख्य उद्देश्य इस प्रकार हैं :-

  • स्थानीय शिल्प का संरक्षण एवं विकास/कला और क्षमता का विस्तार,
  • आय में वृद्धि एवं स्थानीय रोजगार का सृजन (रोजगार हेतु पलायन में भी कमी होगी),
  • उत्पाद की गुणवत्ता में सुधार एवं दक्षता का विकास,
  • उत्पादों की गुणवत्ता में बदलाव (पैकिंग व ब्रांडिंग द्वारा),
  • उत्पादों को पर्यटन से जोड़ा जाना (लाइव डेमो तथा काउंटर सेल – उपहार एवं स्मृतिकाओं द्वारा),
  • क्षेत्रीय असंतुलन द्वारा उत्पन्न होने वाली आर्थिक विसंगतियों को दूर करना,
  • राज्य स्तर पर ओ.डी.ओ.पी. के सफल संचालनोपरांत इसे राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठाना ।

एक जिला एक उत्पाद योजना की विशेषताएं

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश और देश का विकास करना है। इस योजना के द्वारा जिले के छोटे, मध्यम और परंपरागत उद्योगों का विकास संभव हो पायेगा।
  • उसके बाद राज्य सरकार बाजार में प्रतिस्पर्द्धा करने के लिए नयी तकनीक को अनुकूलित करने पर ध्यान केंद्रित करेगी।
  • इस योजना के तहत 25 लाख युवाओं को रोजगार मिलेगा और राज्य की जीडीपी 2% तक बढ़ेगी।
  • यूपी सरकार आने वाले 5 वर्षोंमें स्थानीय कारीगरों और उद्यमियों को 25000 रूपए प्रदान करेगी।
  • इस योजना के अंतर्गत इन जिलों में बन रहे उत्पादों की गुणवत्ता, उत्पादकता, प्रतिस्पर्धा आदि का ध्यान रखने के लिए एक समिति बनाई जाएगी जो इन सबको एनलाइस करेगी और उसके अनुसार अपने कार्य की रणनीति तैयार करेगी।
  • लघु, मध्यम और परम्परागत उद्योग को आर्थिक रूप से सरकार मदद करेगी। साथ ही उसकी गुणवत्ता और कुशलता में सुधर करेगी।
  • इस योजना के अंतर्गत कम ब्याज में लोन भी दिया जायेगा जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग इस योजना का लाभ उठा सके।
  • इसके साथ ही इसकी पैकिंग , ब्रांडिंग पर भी काम किया जायेगा। हर एक उत्पाद को ब्रांड नाम दिया जायेगा, जिससे उत्तर प्रदेश राज्य की भी विश्व पटल पर पहचान बढ़ेगी। अच्छी पैकिंग, ब्रांड नाम होने से लोग इसे जानेंगे।
  • इन उत्पादों को आम लोगों तक पहुंचाने के लिए इसे दूर दूर निर्यात किया जायेगा, इसके लिए ऑनलाइन माध्यम चुना जायेगा। इसके अलावा इन उत्पादों को बेचने के लिए मेले भी लगाए जायेंगे, इससे उस क्षेत्र की पहचान बढ़ेगी और वहां के पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा

एक जिला एक उत्पादों योजना के तहत जिला और उत्पादों की लिस्ट

राज्य में हर जिले का अपना एक विशेष उत्पाद है जिसके लिए वो प्रसिद्ध है। हर उत्पादों के साथ सभी जिलों की पूरी सूची इस प्रकार है :-

जिला (District) उत्पाद (Products)
आगरा (Agra) चमड़ा
फिरोज़ाबाद (Ferozabad) ग्लास चूड़ियों
मथुरा (Mathura) बाथरूम फिटिंग
मैनपुरी (Mainpuri) तारकाशी
अलीगढ़ (Aligarh) ताले और हार्डवेयर
हाथरस (Hathras) असिंग प्रसंस्करण
एटा (Etah) बेल और घंटी
कासगंज (Kashganj) जरी और जरदोज़ी
इलाहाबाद (Allahabad) फल प्रसंस्करण (अमरूद)
प्रतापगढ़ (Pratapgarh) फल प्रसंस्करण (करौंदा)
कौशाम्भी (Koshambi) फल प्रसंस्करण (केले)
आज़मगढ़ (Azamgarh) ब्लैक पात्री
बलिया (Baliya) बिंदी
मऊ (Mau) पावर लॉम
बरेली (Bareilly) जरी वर्क
बदायु (Badayu) जरी वर्क
पीलीभीत (Pilibhit) बांसुरी
शाहजहांपुर (Shahjahanpur) जारी वर्क
संत कबीर नगर (Sant Kabri Nagar) पीतल पॉट
सिद्धार्थनगर (Siddhartnagar) खाद्य प्रसंस्करण (चावल)
चित्रकूट (Chitrakoot) लकड़ी के खिलौने
बांदा (Banda) सागर पत्थर शिल्प
महोबा (Mahoba) गोरा पत्थर शिल्प
हमीरपुर (Hamirpur) जूते
गोंडा (Gonda) खाद्य प्रसंस्करण (दाल)
बहराइच (Bahraich) गेहूं के डंठल
बलरामपुर (Balrampur) खाद्य प्रसंस्करण (दाल)
फैजाबाद (Faziabad) जाली उत्पाद
बाराबंकी (Barabanki) स्कार्फ
अम्बेडकरनगर (Ambedkarnagar) पावर लूम
अमेठी (Amethi) बिस्कुट
सुल्तानपुर (Sultanpur) बीम का फर्नीचर
गोरखपुर (Gorakhpur) टेराकोटा
कुशीनगर (Kushinagar) कलाकृतियों
देवरिया (Devariya) प्लास्टिक के दरवाजे
महाराजगंज (Maharajganj) फर्नीचर
झांसी (Jhansi) मुलायम खिलौने
जालौन (Jalaun) हस्तनिर्मित पत्र
ललितपुर (Lalitpur) भगवान कृष्ण मूर्ति
कानपुर नगर (Kanpur Nagar) चमड़ा उत्पाद
इटावा (Itawa) खाद्य प्रसंस्करण (आलू के उत्पादों)
औरैया (Auraiya) देसी घी
फरुखाबाद (Farukhabad) ब्लॉक प्रिंटिंग
कन्नोज (Kannoj) इत्र और चिकन
उन्नाव (Unnab) जारी
रायबरेली (Raibareli) वुडक्राफ्ट
सीतापुर (Sitapur) दारी
लखीमपुरखीरी (Lakhimpurkhiri) जनजातीय शिल्प
हरदोई (Hardoi) डेयरी उत्पाद
मेरठ (Meerut) खेल सामान
बागपत (Bhagpat) हैंडलूम
गाजियाबाद (Ghaziabad) इंजीनियरिंग सामान
बुलंदशहर (Bulandsahar) पटारी (खुर्जा)
गौतमबुद्ध नगर (Gautambudh Nagar) तैयार मेड उत्पाद
हापुड़ (Hapud) घर का फर्नीचर
मुरादाबाद (Muradabad) मेटलक्राफ्ट
रामपुर (Rampur) पेज काम
बिजनौर (Bijnor) लकड़ी नक्काशी
अमरोहा (Amroha) संगीत वाद्ययंत्र
संभल (Sambhal) हॉर्न और हड्डी
मिर्जापुर (Mirjapur) दरी और कालीन
सोनभद्र (Sonabhadra) कालीन
भदोही (Bhadohi) दरी और कालीन
सहारनपुर (Saharanpur) वुडकार्विंग
मुजफ्फरनगर (Mujafarnagar) जेगेरी उत्पाद
शामली (Shamali) हब और धुरी
वाराणसी (Varanasi) रेशम उत्पाद
गाजीपुर (Gazipur) दीवार लटका वस्तुओं
ज़ोनपुर (Zoanpur) प्रेशर कुकर
चंदौली (Chandauli) जेगेरी प्रोडक्ट्स

यह योजना इन उत्पादों की गुणवत्ता को बढ़ाने पर जोर देगी ताकि ये उत्पाद अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा कर सकें।

आधिकारिक वेबसाइट यहां क्लिक करें
हेल्पलाइन नंबर (0522)-2202893, 9532076677
ईमेल आईडी odopcell@gmail.com
पता ओडीओपी सेल, निर्यात भवन, 8 कैंट रोड, कैसरबाग, लखनऊ-226001

अगर आपको एक जिला एक उत्पाद योजना (ODOP Scheme Uttar Pradesh) से सम्बंधित कोई भी प्रश्न पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है , हमारी टीम आपकी मदद करने की पूरी कोशिश करेगी। अगर आपको हमारी ये जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों को भी शेयर कर सकते है ताकि वो भी इस योजना का लाभ उठा सके।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *