UP CM Helpline Number 1076 Benefits | उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर

Share with your Friends

up mukhyamantri yogi helpline number मुख्यमंत्री शिकायत उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री से शिकायत कैसे करें उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर सीएम हेल्पलाइन शिकायत ऑनलाइन मुख्यमंत्री शिकायत प्रकोष्ठ 1076 हेल्पलाइन 1076 helpline number up cm helpline

UP CM Helpline Number 1076 मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर

Latest News:- मुख्यमंत्री जी ने आम जनता की शिकायतों को समाधान समय से करने के लिए मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1076 शुरू की है। यह हेल्पलाइन पूर्णतः निशुल्क है। इस हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके आप किसी भी विभाग की शिकायत कर सकते है। पूरी जानकारी के लिए नीचे दी गयी इमेज को देखे :-

UP CM Helpline Number 1076
UP CM Helpline Number 1076

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने आम लोगों की शिकायत को सुनने के लिए व उनका समाधान करने के लिए टोल फ्री मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर 1076 का शुभारम्भ किया। सीएम हेल्पलाइन नंबर पर अब घर बैठे आपकी शिकायतों का समाधान आसानी से होगा। इस हेल्पलाइन का हेड क्वार्टर लखनऊ में होगा और यहां हर शिफ्ट में 500 कर्मचारी काम करेंगे। शिकायत का समाधान जल्द से जल्द हो इसके लिए मुख्यमंत्री कार्यालय की एक टीम इसकी मॉनिटरिंग करेगी। यह हेल्पलाइन 24 घंटे जनता की समस्याएं सुनेगी।

UP CM Helpline Number 1076
UP CM Helpline Number 1076

उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल शिकायत पंजीकरण एवं स्थिति के लिए यहां क्लिक करें 

यूपी जनसुनवाई पोर्टल से लिंक

सीएम हेल्पलाइन 1076 से पहले प्रदेश सरकार ने कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए यूपी जनसुनवाई केंद्र का निर्माण किया था जहां घर बैठे आप किसी भी विभाग की किसी भी प्रकार की शियत कर सकते थे। अब मुख्यमंत्री हेल्पलाइन सेवा आईजीआरएस (इंटीग्रेटेड ग्रीवांस रेड्रेसल सिस्टम ) जनसुनवाई केंद्र से लिंक की जाएगी। जनसुनवाई पोर्टल पर हेल्पलाइन 1076 का अलग से विकल्प होगा। यह विकल्प को चुनकर यह पता लगाया जा सकेगा कि पीड़िता की शिकायत पर क्या कार्यवाही हुई और कौन अधिकारी इसके लिए जिम्मेदार है ?हेल्पलाइन नंबर 1076 के लिए तहसील स्तर पर अधिकारीयों व कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है।

यूपी सीएम हेल्पलाइन नंबर 1076 के मुख्य बिंदु

  • शिकायत तभी बंद होगी जब शिकायतकर्ता कहेगा कि उसकी समस्या का संधान हो चुका है।
  • असंतोष जताने पर मामले को उच्चाधिकारियों को हस्तांतरित कर दिया जायेगा।
  • सारी शिकायतों की मुख्यमंत्री जी हर महीने इसकी समीक्षा करेंगे।
  • झूठी शिकायत करने वालों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।
  • हेल्पलाइन नंबर को 100, 108 और 102 नंबर से भी लिंक किया गया है।
  • इसे हेल्पलाइन 181 और वीमेन हेल्पलाइन 1090 से भी जोड़ी जाएगी।
  • हेल्पलाइन नंबर पर सातों दिन 24 घंटे समस्याएं सुनी जाएँगी।
  • शिकायतों का समाधान न करने वालों की छुट्टी की जाएगी।

हेल्पलाइन की खासियत

इस हेल्पलाइन नंबर की शुरुआत शिकायतों के प्रभावी निस्तारण के लिए की गई है। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन दरअसल में एक कॉल सेंटर है। अब तक शिकायतकर्ता अपनी शिकायतों को कागजों के माध्यम से शासन और प्रशासन के पास पहुंचाते थे लेकिन अब टोल फ्री नंबर 1076 की मदद से लोग अपनी शिकायतों को फोन पर ही दर्ज करा सकेंगे। इस कॉल सेंटर की क्षमता 500 सीटों की है, जिसे बढ़ाकर 1000 तक किया जा सकता है. मौजूदा समय में इस कॉल सेंटर से रोजाना 88 हजार इनबाउंड कॉल रिसीव करने की क्षमता है, जबकि 55 हजार आउटबाउंड कॉल्स की क्षमता है।

मॉनिटरिंग

इस कॉल सेंटर की खासियत यह है कि इससे पुलिस विभाग और स्वास्थ्य विभाग को भी जोड़ा गया है। अगर किसी को यह नहीं पता है कि उसे 100 नंबर पर डायल कर पुलिस की सहायता लेनी है या फिर एम्बुलेंस के लिए 108 डायल करना है तो वह इस हेल्पलाइन नंबर पर डायल कर भी सुविधा प्राप्त कर सकता है। इस कॉल सेंटर को आईटी के मदद से इंटीग्रेट किया गया है।

समस्याओं के निस्तारण के लिए कई लेवल पर विभिन्न विभागों में अधिकारियों द्वारा मॉनिटरिंग होगी। मसलन समस्या किस लेवल की है, अगर वह पहले ही लेवल पर निस्तारित हो सकती है तो उसे वहीँ निस्तारित किया जाएगा वरना उसे सेकंड लेवल के अधिकारी के पास भेजा जाएगा। इसकी एक और खासियत है कि इसमें शिकायतकर्ता से फीडबैक लेते हुए पूछा जाएगा कि वह निस्तारण से संतुष्ट है कि नहीं। अगर वह संतुष्ट नहीं है तो उसकी शिकायत को फिर से काम किया जाएगा। साथ ही सुनिश्चित किया जाएगा कि समस्या का संपूर्ण निदान हो सके।

अगर आपको यूपी सीएम हेल्पलाइन नंबर 1076 से सम्बंधित कोई भी प्रश्न पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है , हमारी टीम आपकी मदद करने की पूरी कोशिश करेगी। अगर आपको हमारी ये जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों को भी शेयर कर सकते है ताकि वो भी इस योजना का लाभ उठा सके।

Leave a comment