Rajasthan Mukhyamantri Chiranjeevi Jeevan Rakshak Yojana 2021

Share it with your Friends

rajasthan mukhyamantri chiranjeevi jeevan rakshak yojana 2021 Rs. 5000 to people (good samaritans) who take road accident victims to hospitals, check eligibility, objective, complete details here राजस्थान मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन रक्षक योजना

Rajasthan Mukhyamantri Chiranjeevi Jeevan Rakshak Yojana 2021

राजस्थान सरकार ने सड़क दुर्घटना पीड़ितों को अस्पताल ले जाने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन रक्षक योजना शुरू की है। राज्य सरकार सड़क दुर्घटना पीड़ितों को अस्पतालों में ले जाकर जान बचाने वाले अच्छे लोगों को 5,000 रुपये का इनाम देगी। राजस्थान राज्य की तरह, दिल्ली सरकार पहले से ही मई 2018 से एक नकद इनाम योजना चला रही है, जिसके तहत सड़क दुर्घटना के शिकार लोगों को अस्पताल ले जाने वाले लोग 2,000 रुपये पाने के हकदार हैं।

rajasthan mukhyamantri chiranjeevi jeevan rakshak yojana 2021

rajasthan mukhyamantri chiranjeevi jeevan rakshak yojana 2021

राजस्थान राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन रक्षक योजना नामक एक नई योजना तैयार की गई है। इस योजना में, सरकार सड़क दुर्घटना पीड़ितों को अस्पताल ले जाने वाले लोगों को 5000 रुपये का नकद इनाम देगी। इसके अलावा गुड सेमेरिटन को सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा। इस लेख में हम आपको सीएम चिरंजीवी जीवन रक्षक योजना की पूरी जानकारी के बारे में बताएंगे।

Also Read : Rajasthan Berojgari Bhatta Yojana

मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन रक्षक योजना का उद्देश्य

मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन रक्षक योजना का उद्देश्य लोगों को प्रेरित करना है ताकि सड़क दुर्घटना में घायल लोग स्वर्णिम समय में नजदीकी अस्पतालों में पहुंच सकें और इलाज करा सकें। वसीयत का क्रियान्वयन स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से होगा तथा योजना का व्यय सड़क सुरक्षा कोष से वहन किया जायेगा। मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन रक्षक योजना निजी और सरकारी दोनों अस्पतालों पर लागू होगी।

राजस्थान में अच्छे सामरी लोगों को 5000 रुपये का नकद पुरस्कार

आपातकालीन कक्ष में अस्पताल का एक आकस्मिक चिकित्सा अधिकारी उस व्यक्ति से निपटेगा जिसने किसी घायल को अस्पताल लाया है और उस व्यक्ति के विवरण को नोट करेगा। मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन रक्षक योजना के तहत अच्छे लोगों को 5000 रुपये का नकद इनाम दिया जाएगा। नकद इनाम केवल गंभीर मामलों में दिया जाएगा जहां घायलों को भर्ती करने या इलाज के लिए अस्पताल रेफर करने की आवश्यकता होगी। यदि किसी विशेष मामले में एक से अधिक अच्छे सामरी हैं, तो नकद इनाम को समान रूप से विभाजित किया जाएगा और उन सभी को प्रशंसा पत्र दिए जाएंगे।

Also Read : Rajasthan Mukhyamantri Rajshree Yojana 

मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन रक्षक योजना से बाहर रखे गए लोग

निम्नलिखित संस्थाओं को राजस्थान मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन रक्षक योजना के लाभों का लाभ उठाने से बाहर रखा जाएगा: –

  • 108 व 1033 एंबुलेंस कर्मियों के कर्मचारी
  • निजी एम्बुलेंस
  • पुलिसकर्मी
  • घायलों के परिजन

सीएम चिरंजीवी जीवन रक्षक योजना अच्छे सामरी लोगों को प्रोत्साहित करेगी। मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) पुलिस और स्वास्थ्य विभाग से निपटने वाले नियमों को सरल बनाएगी और प्रोत्साहन कारण को जोड़ देगा। डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार, अगर समय पर इलाज दिया जाए तो 50% सड़क दुर्घटनाओं से होने वाली मौतों से बचा जा सकता है।

दिल्ली ने मई 2018 में अच्छे सामरी लोगों के लिए इसी तरह की नकद इनाम योजना शुरू की, जिसके तहत सड़क दुर्घटना के शिकार लोगों को अस्पताल ले जाने वाले लोग 2,000 रुपये का नकद इनाम पाने के हकदार हैं। इस योजना की घोषणा अगस्त 2016 में की गई थी, जब पश्चिमी दिल्ली में एक टेम्पो की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और 2017 में राज्य कैबिनेट द्वारा मंजूरी दे दी गई थी।

Click Here to Rajasthan Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana
सरकारी योजनाओं की जानकारी के लिए रजिस्ट्रेशन करेंयहाँ क्लिक करें
फेसबुक पेज को लाइक करें (Like on FB)यहाँ क्लिक करें
टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिये (Join Telegram Channel)यहाँ क्लिक करें
इंस्टाग्राम पर हमें फॉलो करें (Follow Us on Instagram)यहाँ क्लिक करें
सहायता/ प्रश्न के लिए ई-मेल करें @disha@sarkariyojnaye.com

Press CTRL+D to Bookmark this Page for Updates

अगर आपको Rajasthan Mukhyamantri Chiranjeevi Jeevan Rakshak Yojana से सम्बंधित कोई भी प्रश्न पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है , हमारी टीम आपकी मदद करने की पूरी कोशिश करेगी। अगर आपको हमारी ये जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों को भी शेयर कर सकते है ताकि वो भी इस योजना का लाभ उठा सके।

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *