Uttarakhand Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana 2023

Share it with your Friends

uttarakhand mukhyamantri ghasiyari kalyan yojana 2023 for women in mountainous regions, cabinet approves CM Ghasyari Kalyan Yojna मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना check complete details here उत्तराखंड मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना 2022

Uttarakhand Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana 2023

उत्तराखंड सरकार जल्द ही एक नई मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना कल्याण योजना (MGKY) शुरू करने जा रही है। इस मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना में राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में निवास करने वाली हजारों महिलाओं को लाभान्वित किया जाएगा।

uttarakhand mukhyamantri ghasiyari kalyan yojana 2023

uttarakhand mukhyamantri ghasiyari kalyan yojana 2023

मुख्‍यमंत्री घसियारी कल्याण योजना कल्याण योजना के तहत 7,771 केंद्रों के माध्यम से पर्वतीय क्षेत्रों के दूरदराज के ग्रामीण क्षेत्रों में पशुओं के लिए चारे की आपूर्ति की जाएगी। इन क्षेत्रों में पशुपालकों को पैक्ड सिलेज और कुल मिश्रण राशन (टीएमआर) प्रदान किया जाएगा। उत्तराखंड मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना उन महिलाओं के लिए एक बड़ी राहत बनकर आएगी, जिन्हें जंगल से चारा इकट्ठा करते समय कष्टों और खतरों का सामना करना पड़ता है।

Also Read : Uttarakhand Mukhyamantri Swarojgar Yojana 

मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना को कैबिनेट की मंजूरी

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में कैबिनेट समिति ने 25 फरवरी 2021 को मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना को मंजूरी दे दी। उत्तराखंड में मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना को मंजूरी कैबिनेट बैठक में लिए गए 7 अहम फैसलों में से एक थी। जैसा कि विधानसभा सत्र अधिसूचना जारी की गई है, कैबिनेट बैठक के बाद कोई औपचारिक मीडिया ब्रीफिंग नहीं थी।

उत्तराखंड घसियारी कल्याण योजना का क्रियान्वयन

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, कैबिनेट ने अगले वित्तीय वर्ष में उत्तराखंड मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना (MGKY) के लिए 16.78 करोड़ रुपये की मंजूरी दी। राज्य सरकार ने पहले ही मक्का की सहकारी खेती की व्यवस्था की है, जिससे लाभार्थियों को इसकी आपूर्ति के साथ-साथ सिलेज और टीएमआर के उत्पादन की सुविधा मिलती है। ब्रिटेन सरकार का इरादा इस योजना के तहत पशु चारे को 3 रुपये प्रति किलोग्राम पर देने का है।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना की मुख्य विशेषताएं

  • इस योजना के तहत, महिलाओं को चरपटियों के लिए जंगल में जाने की ज़रूरत नहीं है, जिसके लिए जानवरों का पौष्टिक भोजन सब्सिडी दरों पर दिया जाएगा।
  • उत्तराखंड के सुदूर ग्रामीण पहाड़ी क्षेत्रों के पशुधन किसानों को उनके घर पर पैकेज्ड साइलेज, टोटल मिक्स्ड राशन टीएमआर दिया जाएगा।
  • इसका उद्देश्य महिलाओं को रियायती दरों पर सिलेज और टीएमआर फीड ब्लॉक देकर चारा काटने के कार्य से मुक्त करना है।
  • पशुओं को चारा के लिए जंगल से भटकना नहीं पड़ेगा।
  • पशु स्वास्थ्य और दूध की उपज में दोहरा लाभ होगा।
  • 2,000 से अधिक कृषक परिवारों को 2000 एकड़ से अधिक भूमि पर मक्का की सामूहिक सहकारी खेती से जोड़ा जाएगा। मक्का उगाने वाले किसानों को उचित मूल्य प्रदान करने की व्यवस्था की गई है।
  • मवेशी भी अपने पशुओं के लिए पौष्टिक चारा प्राप्त करेंगे और पहाड़ों में महिलाओं के सिर से बोझ कम हो जाएगा।

उत्तराखंड में इस संपूर्ण मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना कल्याण योजना की लागत 19 करोड़ रुपये है।

Also Read : Uttarakhand HOPE Portal Online Registration

महिलाओं को जंगल के लिए भटकना नहीं पड़ेगा

इससे पहले, त्रिवेंद्र सिंह रावत की सरकार ने भी पति की भूमि में महिलाओं को सह-लेखाकार बनाने की अपनी योजना को मंजूरी दे दी है। पर्वतीय क्षेत्रों का अर्थशास्त्र महिलाओं के इर्द-गिर्द घूमता है। चारे के लिए जंगल में भटकना, सुबह और शाम के लिए लकड़ी एक बड़ी समस्या रही है। जंगल के रास्ते पर, कभी-कभी जंगली जानवरों के हमले, कभी-कभी पहाड़ी से गिरने और मौत, जैसे कि दुर्घटना के दिन होते हैं।

इस योजना का राजनीतिक अर्थ

इसके बड़े राजनीतिक मायने भी हैं। उत्तराखंड में महिला और पुरुष मतदाताओं की संख्या समान है। चुनावी आंकड़ों से पता चलता है कि जब भी उत्तराखंड में मतदान हुआ, महिला मतदाताओं का प्रतिशत पुरुष मतदाताओं की तुलना में अधिक था।

उत्तराखंड मंत्रिमंडल की बैठक में अन्य निर्णय

राज्य कैबिनेट ने निजी सहायता प्राप्त संस्कृत स्कूलों और कॉलेजों में 57 शिक्षकों को मानदेय प्रदान करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है। जल जीवन मिशन के प्रभावी कार्यान्वयन के लिए दो पदों – अतिरिक्त परियोजना निदेशक (तकनीकी) और अधीक्षण अभियंता को भी मंजूरी दी गई।

उत्तराखंड कैबिनेट ने वन भूमि लीज नवीकरण और नए लीज अनुमोदन के लिए नीति को भी मंजूरी दी। कैबिनेट बैठक में उत्तराखंड पुलिस दूरसंचार अधीनस्थ सेवा नियमावली में संशोधन को भी मंजूरी दी गई। एक अन्य महत्वपूर्ण फैसले में, कैबिनेट ने हरिद्वार में 50 आईसीयू बेड वाले Covid -19 रोगियों के उपचार के लिए समर्पित एक 600-बेड अस्पताल को भी मंजूरी दी।

Click Here to Uttarakhand Rojgar Mela 

सरकारी योजनाओं की जानकारी के लिए रजिस्ट्रेशन करें यहाँ क्लिक करें
फेसबुक पेज को लाइक करें (Like on FB) यहाँ क्लिक करें
टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिये (Join Telegram Channel) यहाँ क्लिक करें
सहायता/ प्रश्न के लिए ई-मेल करें @ [email protected]

Press CTRL+D to Bookmark this Page for Updates

अगर आपको Uttarakhand Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana से सम्बंधित कोई भी प्रश्न पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है , हमारी टीम आपकी मदद करने की पूरी कोशिश करेगी। अगर आपको हमारी ये जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों को भी शेयर कर सकते है ताकि वो भी इस योजना का लाभ उठा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *